बिहार पर्यटन में आपका स्वागत है!
अपना खाता बनाएं
बिहार पर्यटन
पासवर्ड भूल गया
बिहार पर्यटन
एक नया पासवर्ड सेट करें
बिहार पर्यटन
आपने अभी तक अपना खाता सक्रिय नहीं किया है.
नीचे दिए गए लिंक का उपयोग करके अपने खाते को सक्रिय करें।
बिहार पर्यटन
सक्सेस पेज।
बिहार पर्यटन
त्रुटि पृष्ठ।
बिहार पर्यटन
यूजर प्रोफाइल


बिहार पर्यटन
पासवर्ड बदलें
गुरुद्वारा बाल लीला

गुरुद्वारा बाल लीला को मैनी संगत भी कहा जाता हैऔर यह पटना शहर मेंस्थित है। इस गुरुद्वारा का इततहास तसखोंके 10वेंगुरु श्री गुरु गोतबंद तसंह जी महाराज के बाल्यकाल सेजुडा हैजहााँवो अन्य बच्ोंके साि खेलनेजातेिे। 

गुरुद्वारा बाल लीला पहलेराजा फतेह चंद मैनी का महल िा और कहा जाता हैतक, एक बार राजा की पत्नी भगवान सेगुरु गोतबंद तसंह जी महाराज जैसा पुत्र पानेकी प्रािथना कर रही िी और उसी क्षण गुरुजी उनकी गोद मेंबैठ गए और उन्हेंमााँ कहकर पुकारा, तजससेउन्हेंबहुत खुशी हुई और इस तरह उन्हेंधमथमाता के नाम सेजाना गया। यह पतवत्र थिान मां के अपार प्रेम का प्रतीक है। उन्होंनेगुरुजी और उनके दोस्ोंको उबलेहुए चनेखानेकेतलए परोसेऔर इस वजह सेउबलेहुए चने को प्रसाद केरूप मेंचढानेकी परंपरा शुरू हुई।

गुरुद्वारा बाल लीला मेंआपको गुरु गोतबंद तसंह जी महाराज के बाल्यकाल के एक जोडी छोटेजूतेदेखनेको तमलेंगेऔर साि ही यहााँआपको करोंदा का पेड तमलेगा जो की गुरूजी के बाल्यकाल सेवहांमौजूद है।

Booking.com

ध्यान दें : अन्य स्थलों के लिंक प्रदान करके, बिहार पर्यटन इन साइटों पर उपलब्ध जानकारी या उत्पादों की गारंटी, अनुमोदन या समर्थन नहीं करता है।

पटना

धुंध

28.96°C
लगता है जैसे 34.42°C
हवा 0 m/s
दबाव 1003 hPa
पसंदीदा में जोड़ें

संग्रह